Swami Vivekananda Books PDF in Hindi डायरेक्ट लिंक

दोस्तों क्या आप Swami Vivekananda Books PDF in Hindi मे डाउनलोड करना चाहते हैं Swami Vivekananda Biography जानना चाहते हैं तो बिल्कुल सही जगह आए हैं

अभी मैं आप लोगों को स्वामी विवेकानंद बुक्स पीडीएफ इन हिंदी में बताने वाला हूं और उनकी जीवनी के बारे मैं भी हम थोड़ा सा जानेंगे और फिर उसके बाद में मैं Swami Vivekananda Books PDF in Hindi में बताऊंगा और उनको विश्लेषण भी बताऊंगा ताकि आप लोगों को आसानी हो सके कि कौन से बुक किस लिए है और आप उससे क्या देख सकते हैं

स्वामी विवेकानंद जी की पुस्तकों के साथ-साथ हमे Swami Vivekananda quotes on education in Hindi के बारे में भी अवश्य जानना चाहिए ताकि हम सब उनके विचारों को अपने-अपने जीवन मे उतार सके और एक अच्छे जीवन की कामना कर सके और अपने लाइफ जर्नी को Happy journey बनाना चाहिए और हमे Happy Journey Meaning In Hindi भी पता होना चाहिए ।

Swami Vivekananda Biography

दोस्तों अभी हम स्वामी विवेकानंद जी की biography के बारे मे जान लेते है और फिर हम Swami Vivekananda Books PDF in Hindi कैसे प्राप्त कर सकते है उसके बारे मे आगे जानेंगे दोस्तों

Swami Vivekananda Books PDF in Hindi

स्वामी विवेकानंद जी 1863 से लेकर के 1902 तक एक भारतीय आध्यात्मिक नेता और सामाजिक सुधारक के रूप में थे जिन्होंने भारतीय संस्कृति धर्म और दर्शन के बारे में विश्वास जगाया था और उनका जन्म कोलकाता में हुआ था और वे अपनी शिक्षा के लिए वेदांत के अध्ययन करने के लिए बेंगलुरु गए थे उन्होंने वेदांत की बातों को पश्चिमी संसार में प्रचारित करने के लिए अमेरिका जाकर विश्व प्रसिद्ध देता प्राप्त करी थी

दोस्तों स्वामी विवेकानंद जी ने उसके बाद में भारतीय जनता को अपनी संस्कृति और आध्यात्मिक विरासत के बारे में जागरूक किया और उन्होंने विश्व के धर्मों के बारे में भी जानकारी प्रवाहित की और सभी धर्मों के बीच समानता और समझौते के बारे में भी बात की उन्होंने भारतीय संस्कृति और दर्शन को पश्चिमी संसार के साथ मेल करने में अहम भूमिका निभाई है

दोस्तों स्वामी विवेकानंद जी के जीवन में कई महत्वपूर्ण कार्यक्रम भी शामिल हैं और उनके जीवन का सबसे महत्वपूर्ण कार्यक्रम उनके भारत आने का था जब भारत में नई आध्यात्मिक शिक्षा शाखा को स्थापित करने के लिए लड़ते हुए भारत के संस्कृति और धर्म के प्रचार में एक बहुत बड़ी भूमिका निभाई थी और उन्होंने समाज के अंतर्गत जावेद अशिक्षा और दुर्गमता को खत्म करने के लिए भी मुहिम चलाई थी और काफी सारी लड़ाई लड़ी ।

हमसे यहाँ भी जुड़ेंलिंक पर क्लिक करें
Telegram Groupज्वाइन करें telegram
Whatsapp Groupज्वाइन करें whatsapp
OfficialSitenewslegator.com

शादी खाना मेनू लिस्ट इन हिंदी PDF Download

Swami Vivekananda Books PDF in Hindi

अभी मै आप लोगों को swami Swami Vivekananda Books PDF in Hindi की लिस्ट नीचे देने वाला हूँ उनके नाम और उनके सन्न भी मेन्शन कर रहा हूँ जिससे आपको यह समझने मे आसानी होगी की कोनसी पुस्तक कब लिखी गई थी

उसके बाद मे मै सभी Swami Vivekananda Books PDF in Hindi की सूची के हर एक पुस्तक के बारे मे थोड़ी-थोड़ी जानकारी या कहे की हरके Book की Summary भी देने वाला हूँ

जिससे आपको हर एक Swami Vivekananda Books PDF in Hindi की विसेशताओ के बारे मे जानकारी मिल जाएगी

Swami Vivekananda Books PDF in Hindi List:

  1. राजयोग – Raja Yoga (1896) PDF Hard Copy BUY
  2. भक्तियोग – Bhakti Yoga (1896) PDF Hard Copy BUY
  3. कर्मयोग – Karma Yoga (1896) PDF Hard Copy BUY
  4. प्रबुद्ध भारत – Prabhudha Bharata (1896) Hard Copy BUY
  5. संगीत और जीवन – Music and Its Effect on the Human Mind (1896) Hard Copy BUY
  6. जीवन जीने का उपदेश – 1896 (Teachings on How to Live Life – 1896) Hard Copy BUY
  7. स्वामी विवेकानंद का जीवन और दर्शन – Swami Vivekananda: His Life and Philosophy (1896) Hard Copy BUY
  8. भारतीय संस्कृति का इतिहास – 1896 (History of Indian Culture – 1896)Hard Copy BUY
  9. आत्म-शिक्षा – Atmanatattva-Viveka or Knowledge of Self (1897) Hard Copy BUY
  10. संस्कृति: उसकी उत्पत्ति और विकास – The Culture of India: Its Origin and Development (1897) Hard Copy BUY
  11. शक्ति के स्फूर्ति-स्रोत – The Sources of Strength and Inspiration (1899) Hard Copy BUY
  12. ज्ञानयोग – Jnana Yoga (1899) Hard Copy BUY
  13. अन्तरात्मा का रहस्य – 1899 (Secrets of the Inner Self – 1899) Hard Copy BUY
  14. हिंदू धर्म का इतिहास – 1899 (History of Hinduism – 1899) PDF Hard Copy BUY
  15. आधुनिक भारत के निर्माता – The Builders of Modern India (1900) Hard Copy BUY
  16. प्राचीन भारत का इतिहास – 1900 (Ancient History of India – 1900) Hard Copy BUY
  17. युवकों के लिए सन्देश – To the Youth of India (1900) Hard Copy BUY
  18. उत्तराधिकारी – The Powers of the Mind (1900) Hard Copy BUY
  19. विश्व धर्मों के सम्बन्ध में – The Relation of Religion to Social Reform (1900) Hard Copy BUY
  20. विवेकचूडामणि – 1901 (Crest-Jewel of Discrimination – 1901) Hard Copy BUY
  21. जीवन विद्या – Life’s Calling (1902) Hard Copy BUY
  22. जीवन की संदेह और समाधान – Life’s Doubts and Their Solutions (1902) Hard Copy BUY
  23. विश्व युवा-शिक्षा – The Education of the Young (1903) Hard Copy BUY
  24. संपूर्ण विवेकानंद, भाग 1-9 – The Complete Works of Swami Vivekananda, Volumes 1-9 (1907) Hard Copy BUY
  25. जीवन एक नया दृष्टिकोण – Life’s Philosophy: Reason and Religion (1913) Hard Copy BUY
  26. स्वामी विवेकानंद के पत्र – Letters of Swami Vivekananda (1927) Hard Copy BUY

तो यह थी कुछ Swami Vivekananda Books PDF in Hindi की लिस्ट और अब हम जानने वाले है इन सभी पुस्तकों के विषयों के बारे मे और इन सभी पुस्तकों की विसेशताओं के बारे मे ।

Swami Vivekananda Books विशेषताएं

दोस्तों स्वामी विवेकानंद जी की वाणी और सोच को संसार भर में विस्तार दिया गया है और उन्होंने अपने उपदेशों के माध्यम से कई सारी पुस्तक में भी निर्माण की और कई सारी पुस्तकों से ज्ञान को इकट्ठा करके फिर नई पुस्तकों का निर्माण किया

Swami Vivekananda Books विशेषताएं

और अपने उपदेशों के माध्यम से लोगों को जागरूक भी किया और स्वामी जी ने अपने जीवन में उच्चतम स्तर तक पहुंचने की प्रेरणा भी प्रदान करी है उनकी जीवनी एक प्रेरणादायक कहानी है जो हमें समाज में सकारात्मक परिवर्तन के लिए लड़ने की प्रेरणा देती है

स्वामी विवेकानंद जी की जितनी भी पुस्तकें हैं उनके कुछ विशेषताएं मैं आगे बताने वाला हूं आप लोगों को जिन्हें आप पढ़िए और जो भी आपको पुस्तक अच्छे लगे वह आप पढ़ सकते हैं खरीद कर या फिर कुछ दिन बाद मैं पीडीएफ फाइल प्रोवाइड करा दूंगा अपने इसी लेख में या फिर से साइट पर तब आप डाउनलोड करके भी पढ़ पाएंगे आसानी से चलिए हम जान जाते हैं अभी विवेकानंद जी की कुछ पुस्तकों की विशेषताओं के बारे में

Books summary:

  • “राजयोग” यह स्वामी विवेकानंद जी की एक महत्वपूर्ण पुस्तक है जो मन को नियंत्रित करने के लिए उपयोगी मानी गई है और इस पुस्तक में ध्यान करने के लिए विभिन्न तकनीकों का वर्णन किया गया है और जो आध्यात्मिक जीवन को बेहतर बनाने में मदद भी करते हैं आप इस पुस्तक को अपने ध्यान को केंद्रित करने के लिए निर्धारित करने के लिए पढ़ सकते हैं
  • “भक्तियोग” यह विवेकानंद जी की एक प्रसिद्ध पुस्तकों में से एक है जो भक्ति के माता और भक्ति योग के उपयोग के बारे में बताती है और इस पुस्तक में उन्होंने भक्ति योग के सिद्धांतों को विस्तार से समझाया हुआ है जो आध्यात्मिक जीवन के बेहतर बनाने में मदद करते हैं और आप अपने आध्यात्मिक जीवन को बेहतर बनाने के लिए इस पुस्तक का अनुसरण कर सकते हैं
  • “कर्मयोग” यह भी स्वामी विवेकानंद जी की एक महत्वपूर्ण पुस्तकों में से एक है जो कर्म के महत्व और उसे उच्चतम आध्यात्मिक उन्नति के लिए कैसे उपयोग किया जा सकता है इसके बारे में बताती है और इस पुस्तक में स्वामी जी ने कर्म करने के तरीकों को समझाया है जो आध्यात्मिक जीवन को बेहतर बनाने में मदद करते हैं और आप अपने आध्यात्मिक जीवन में रहते हुए कैसे कर्म करने चाहिए उसको जानने के लिए यह पुस्तक अवश्य पढ़ें
  • “प्रबुद्ध भारत” यह पुस्तक स्वामी विवेकानंद द्वारा 18 सो 96 में शुरू की गई और मानसिक पत्रिका है इस पत्रिका का उद्देश्य भारत के प्राचीन ज्ञान और आध्यात्मिकता को बढ़ावा देना रहा है साथ ही समकालीन सामाजिक और राजनीतिक मुद्दों पर चर्चा करना भी था यह आज भी प्रकाशित होती है और सबसे पुरानी आध्यात्मिक पत्रिका में से एक है जिसे आप अपने जीवन में सुधार करने के लिए पढ़ सकते हैं
  • “संगीत और जीवन” यह जो पुस्तक है वह संगीत के अनुभव और उसके जीवन में खास महत्व को विस्तार से वर्णित करती है और इसमें संगीत के प्रति आकर्षण संगीत के प्रभाव और संगीत के माध्यम से अनुभव की गहराई को बताया गया है आप इसे भी पढ़ सकते हैं
  • “जीवन जीने का उपदेश” स्वामी विवेकानंद जी ने हमें जीवन को सफलता के दृष्टिकोण से देखने की महत्वपूर्ण जानकारी देने के लिए इस पुस्तक का निर्माण किया और इस पुस्तक में स्वामी जी ने जीवन के महत्वपूर्ण विषयों पर विचार किया है जो हमारे जीवन में सफलता लड़ने में कारगर साबित होते हैं आप इस पुस्तक को भी अवश्य पढ़ें
  • स्वामी विवेकानंद का जीवन और दर्शन” यह एक ऐसी पुस्तक है जिसे Swami Vivekananda Biography और उनके दर्शनों पर आधारित किया गया है और इस पुस्तक में स्वामी विवेकानंद के बारे में विस्तृत रूप से जानकारी थी दी गई है उनके जीवन के महत्वपूर्ण पहलुओं के बारे में भी विस्तार पूर्वक बताया गया जिसे आप पढ़ सकते हैं और उनके जीवन के बारे में जान सकते हैं
  • “भारतीय संस्कृति का इतिहास” विवेकानंद जी ने यह महत्वपूर्ण पुस्तक निर्माण की जो भारतीय संस्कृत के विकास को विस्तार से वर्णन करती है और इस पुस्तक में स्वामी जी ने भारतीय संस्कृत के महत्वपूर्ण घटकों पर विचार किया है जो आधुनिक भारत के विकास में मदद करते हैं आप इसे भी पढ़ सकते हैं
  • “आत्म-शिक्षा” अपनी आतंकी शिक्षा के लिए आप साथ में शिक्षा पुस्तक को पढ़ सकते हैं और यह पुस्तक स्वामी विवेकानंद द्वारा लिखी गई है इस पुस्तक में उन्होंने अपनी अनुभूतियों और दार्शनिक विचारों के माध्यम से मनुष्य जीवन के मूल्यों आदर्शों समस्याओं और उनके समाधान पर विचार किया है जिससे आप अपने जीवन की संतुष्टि के लिए पढ़ सकते हैं
  • “संस्कृति: उसकी उत्पत्ति और विकास” यह पुस्तक दोस्तों लुईस अरेना द्वारा लिखी गई है और इस पुस्तक में संस्कृत के उत्पत्ति और विकास के बारे में विस्तृत रूप से जोड़ दिया गया है इसमें संस्कृत के विभिन्न पहलुओं को जैसे कला संगीत वस्तु एवं शब्दकोश आदि के विकास के बारे में बताया गया है
  • “शक्ति के स्फूर्ति-स्रोत” इस पुस्तक को श्री श्री रविशंकर जी महाराज ने लिखा है और इस पुस्तक में वे अपनी अनुभूतियों विचारों और उनके साथी व्यक्तियों के अनुभवों के माध्यम से मनुष्य की शक्तियां संभावनाओं और उन्हें जागृत करने के उपायों पर चर्चा करी है जिन्हें आप अवश्य पढ़ें
  • “ज्ञानयोग” यह एक प्रसिद्ध पुस्तक है जिसे स्वामी विवेकानंद जी की रचना है जो मन की शुद्धि व्यक्तिगत विकास और समस्याओं के समाधान के लिए ज्ञान के महत्व पर आधारित की गई है और यह पुस्तक आज भी सभी आयु वर्ग के लोगों के लिए उपयोगी साबित होते हैं और आप चाहे तो इसे अपने ज्ञान में वृद्धि करने के लिए पढ़ सकते हैं
  • “अन्तरात्मा का रहस्य” यह पुस्तक स्वामी विवेकानंद जी की एक प्रेरक पुस्तक है जो हमें आत्मा के रहस्य को समझाने में मदद करती है और इस पुस्तक में स्वामी जी ने आत्मा के स्वरूप उसके गुण जीवन का उद्देश्य आत्मा के साथ जोड़ने के उपाय आदि पर विचार किए हैं अगर आप अपनी अंतरात्मा का रहस्य जानना चाहते हैं तो इस पुस्तक का एक बार अनुसरण अवश्य करें
  • “हिंदू धर्म का इतिहास” इस पुस्तक को स्वामी विवेकानंद जी एक महत्वपूर्ण पुस्तक मानते हैं जो हिंदू धर्म के इतिहास और उसके सिद्धांतों को समझाने में मदद करती है और इस पुस्तक में स्वामी विवेकानंद जी ने हिंदू धर्म की महत्वपूर्ण विषयों पर विस्तार से विचार किया है और आप भी यह पुस्तक अवश्य पढ़े हैं
  • “आधुनिक भारत के निर्माता” यह कैसी पुस्तक है जो दृष्टिकोण पत्रिका द्वारा प्रकाशित की गई है और इस पुस्तक में भारत के आधुनिक इतिहास में महत्वपूर्ण व्यक्तियों के बारे में विस्तृत रूप से जानकारी दी गई है और इसमें श्री स्वामी विवेकानंद रविंद्र नाथ टैगोर महात्मा गांधी जवाहरलाल नेहरू जैसे कई नाम भी शामिल है
  • “प्राचीन भारत का इतिहास” दोस्तों स्वामी विवेकानंद जी ने इस पुस्तक को भारतीय इतिहास और संस्कृति के बारे में बताया है इस पुस्तक में स्वामी जी ने भारत के इतिहास दर्शन वैदिक साहित्य वर्ण व्यवस्था और भारतीय संस्कृति विस्तृत रूप से जानकारी दी है आप इसे पढ़कर सारी जानकारी प्राप्त कर सकते हैं
  • “युवकों के लिए सन्देश” यह पुस्तक स्वयं स्वामी विवेकानंद द्वारा रचित है उन्हीं के द्वारा लिखी गई है और इस पुस्तक में स्वामी विवेकानंद ने युवकों को अपने जीवन के लिए प्रेरणादायक संदेश दिए हैं और इसमें उन्होंने अपने अनुभवों से लिखा है और युवाओं को सफलता की ओर अग्रसर करने के लिए मार्गदर्शन भी प्रस्तुत किए हैं आज के युवाओं को यह पुस्तक अवश्य पढ़नी चाहिए
  • “उत्तराधिकारी” यह जो पुस्तक है वह महात्मा ज्योतिबा फुले द्वारा लिखी गई है और यह पुस्तक उन लोगों के बारे में है जो समाज के अतिरिक्त होते हुए भी उससे जुड़े हुए हैं या पुस्तक भारतीय समाज के बारे में एक महत्वपूर्ण विषय को भी दर्शाती है जिससे आप पढ़ कर उसकी खासियत को जान सकते हैं
  • “विश्व धर्मों के सम्बन्ध में” यह जो पुस्तक है वह डॉक्टर जो शिवकुमार द्वारा लिखी गई है और इस पुस्तक में विभिन्न धर्मों के संबंधों पर चर्चा करी गई है और विश्व के विभिन्न धर्मों के बीच संबंध को समझने में मदद करती है
  • “विवेकचूडामणि” यह विवेकानंद जी के एक महत्वपूर्ण पुस्तक है जो आध्यात्मिक विषयों पर विचार करती है और इस पुस्तक में स्वामी जी ने आत्मज्ञान जीवन का उद्देश्य दुख से मुक्ति मोर्चा दिक्सएफ विस्तार से विचार किया है आप अपने जीवन में आत्मज्ञान प्राप्त करने के लिए और दुखों से मुक्ति प्राप्त करने के लिए मौत के बारे में सोचने समझने के लिए इस पुस्तक का आंसर कर सकते हैं
  • “जीवन विद्या” यह जो पुस्तक है वह श्री रमेश बाबा द्वारा लिखी गई है और इस पुस्तक में उन्होंने मानव जीवन के विभिन्न पहलुओं पर विचार किया है और सुझाव भी प्रस्तुत किया है इस पुस्तक को पढ़ने से आप अपने जीवन में सफलता प्राप्त करने के लिए प्रेरित हो सकते हैं तो अपनी जीवन की प्रेरणा के लिए आप इस पुस्तक को पढ़ सकते हैं
  • “जीवन की संदेह और समाधान” इस पुस्तक को डॉक्टर जगदीश चंद्र जैन द्वारा लिखा गया है और इस पुस्तक में भी मनुष्य के जीवन में आने वाली समस्याओं और संदेह उनके समाधान पर चर्चा करते हुए उन्होंने बहुत कुछ विस्तार पूर्वक बताया है और इस पुस्तक में उन्होंने धार्मिक दार्शनिक और आध्यात्मिक विचारों का भी प्रयोग किया है जिन्हें आप अपने जीवन के संदेह को और उनके समाधान में को ढूंढ सकते हैं
  • “विश्व युवा-शिक्षा” इस पुस्तक को डॉक्टर सर्वपल्ली राधाकृष्णन द्वारा लिखा गया है और इस पुस्तक में विश्व भर में युवाओं के शिक्षक सामाजिक और आर्थिक विकास के लिए अपने विचार व्यक्त किया गया है और इस पुस्तक में युवाओं के संबंधित मुद्दों पर व्यापक रूप से चर्चा की गई है जिसे सारे युवा लोग पढ़ सकते हैं और अगर आप भी अरियुवा हैं तो इसे जरूर पढ़ें
  • “संपूर्ण विवेकानंद, भाग 1-9” इस पुस्तक में स्वामी विवेकानंद द्वारा लिखे गए विभिन्न ग्रंथों का संकलन है और इस पुस्तक में उन्होंने भारतीय धर्म दर्शन और संस्कृत पर चर्चा की है और मनुष्य जीवन के विभिन्न पहलुओं को समझाने का प्रयास किया है जिसे आप अवश्य पढ़ें और अपने जीवन में इस पुस्तक के सुझावों को उतारने का प्रयास करें
  • “जीवन एक नया दृष्टिकोण” नीलम सक्सेना द्वारा लिखित इस पुस्तक में जीवन को विभिन्न पहलुओं पर एक अलग दृष्टिकोण देती हैं इस पुस्तक को पढ़ने से आप अपने जीवन को एक नया दृष्टिकोण दे सकते हैं अगर यह पुस्तक आप पढ़ना चाहते हैं तो अवश्य पढ़ सकते हैं
  • “स्वामी विवेकानंद के पत्र” यह एक ऐसी पुस्तक है जो स्वामी विवेकानंद द्वारा लिखे गए पत्रों का संकलन है और इस पुस्तक में स्वामी विवेकानंद ने अपने साधकों अपने हितों विद्वानों और उनके अन्य समर्थकों से लिखा हुआ है यह पुस्तक स्वामी विवेकानंद के जीवन के एक महत्वपूर्ण अंश को दर्शाती है आप अगर स्वामी विवेकानंद जी के जीवनी के बारे में जानना चाहते हैं तो उनके इस स्वामी विवेकानंद के पत्र को पढ़ सकते हैं
Swami Vivekananda Biography

FAQ

21 स्वामी विवेकानंद द्वारा रचित पुस्तक कौन सी है?

स्वामी विवेकानंद द्वारा लिखित किताबों की सूची- राजयोग, कर्मयोग, भक्ति योग, ज्ञानयोग, लेक्चर्स फ्रॉम कोलंबो टू अल्मोड़ा, और माई मास्टर प्रमुख हैं.

स्वामी विवेकानंद से हमें क्या सीखना चाहिए?

स्वामी विवेकानंद से हमें क्या सीखना चाहिए

स्वामी विवेकानंद हमें बहुत से महत्वपूर्ण सीख देते हैं। जैसे कि
1. धर्म के महत्व को समझें और धर्म के अनुसार जीवन जियें।
2. स्वस्थ शरीर का रखें ध्यान और स्वस्थ मन का रखें संतुलन।
3. ज्ञान और विद्या को महत्व दें और उन्हें अपनाएं।
4. स्वयं के सफल होने के लिए दूसरों की मदद करें।
5. संतुलित जीवन जीने के लिए ध्यान के अभ्यास को समझें और उन्हें अपनाएं।
ये सीख हमें और हमारे आसपास के लोगों के लिए एक सकारात्मक प्रभाव बनाने में मदद करते हैं।

स्वामी विवेकानंद कितने घंटे सोते थे?

कहा जाता है की, स्वामी विवेकानंद दिन में लगभग करीब 4-6 घंटे सोते थे। वे रात को देर से सोते थे और सुबह जल्दी उठते थे। स्वामी जी ने अपने जीवन में ज्ञान, त्याग, ध्यान और कार्य को अपनाकर एक सफल जीवन जिया था। इसीलिए वह काम सोते थे ।

स्वामी विवेकानंद 1 घंटे में कितने पेज पढ़ लेते थे?

स्वामी विवेकानंद जी के बारे मे कहा जाता है कि वह अपनी पढ़ाई के लिए बहुत उत्सुक थे और बहुत ज्ञानी भी थे। हालांकि, उनके एक घंटे में कितने पेज पढ़ सकते थे इसकी निश्चित संख्या नहीं है। परंतु वे अपनी पढ़ाई को दीर्घकालिक रूप से लेते थे और हमेसा ध्यान से पढ़ने का प्रयास करते थे।

स्वामी विवेकानंद का सबसे बड़ा मंत्र क्या था?

स्वामी विवेकानंद का सबसे बड़ा मंत्र यह है “जागो और उठो”। वे हमें हमेसा इस मंत्र के माध्यम से उत्साहित करते थे कि हमें समय से पहले उठना चाहिए और अपने जीवन को एक सकारात्मक दिशा में दिशानिर्देश करना चाहिए। और इस मंत्र का अर्थ है कि हमें उठना है और अपने सपनों को पूरा करने के लिए जी जान से काम करना है। स्वामी विवेकानंद जी ने इस मंत्र का उपयोग अपने जीवन में किया और दुनिया को एक नई दिशा दी।

स्वामी विवेकानंद का मूल मंत्र क्या है?

स्वामी विवेकानंद का मूल मंत्र: जागो उठो और तब तक मत रुको जब तक तुम्हें तुम्हारे लक्ष्य की प्राप्ति न हो जाए.

स्वामी विवेकानंद की सबसे अच्छी किताब कौन सी है?

स्वामी विवेकानंद की सबसे अच्छी किताबों में से कुछ महत्वपूर्ण चुनाव निम्नलिखित हैं राज योग, कर्म योग, भक्ति योग, ज्ञान योग, माई मास्टर, कोलंबो से अल्मोड़ा तक व्याख्यान BUY , और बहुत सारी अच्छी किताब हैं।।

विवेकानंद जैसी किताब कैसे पढ़ी जाती है?

विवेकानंद जैसी किताब को पढ़ने के लिए, सबसे पहले हमे अपनी समझावट पर ध्यान देने के साथ-साथ अभ्यास करना भी आवश्यक है। ध्यान व अनुभव को सीखने के लिए उनकी साधना तथा उपायों के बारे में अध्ययन करना भी आवश्यक होता है।

स्वामी विवेकानंद कौन सा ध्यान करते थे?

स्वामी विवेकानंद वेदांती ध्यान किया करते थे। उन्होंने भारतीय दर्शन, वेदांत और योग को अपने ध्यान के मूल तत्व के रूप में स्वीकार किया था।

विवेकानंद ने कितनी किताबें लिखी हैं?

उन्होंने 30 अलग-अलग काम के साथ स्वामी विवेकानंद ने कुल मिलाकर ९ किताबें लिखी थीं।

Conclusion

तो दोस्तों अभी हमने इस लेख में जाना Swami Vivekananda Books PDF in Hindi डायरेक्ट लिंक से कैसे डाउनलोड करें और Swami Vivekananda Biography उनके जीवन के बारे में थोड़ा सा जाना और उन्होंने कितनी किताबें लिखी है उसके बारे में भी हमने एक विस्तार पूर्वक जानकारी हासिल की और उसकी विशेषताएं क्या है उनके बारे में भी हमने जान दिया है

हमसे यहाँ भी जुड़ेंलिंक पर क्लिक करें
Telegram Groupज्वाइन करें telegram
Whatsapp Groupज्वाइन करें whatsapp
OfficialSitenewslegator.com

अगर अभी भी आपको समझने में कोई प्रॉब्लम हो रही हो या इस आर्टिकल मैं कोई त्रुटि हो तो जरूर कमेंट करके बताएं और कोई सुझाव हो तो वह भी आप कमेंट में जरूर बताएं ताकि हम आगे अपने आर्टिकल में उन सुझावों को इंप्लीमेंट कर सके यह आर्टिकल पढ़ने के लिए दिल से धन्यवाद

About Raj Maurya

Hey Guys I'm Raj Maurya Founder and author of Newslegator.com from UP India. I have a little bit of knowledge and experience in the Blogging industry. Also, I'm a Youtuber my channel is Maurya Vlog Video. On newslegator.com I am providing education and career-related information if you like this blog then comment below thank u...

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.